Offer Price

सावित्रीबाई फुले रचना समग्र (SAVITRI BAI PHULE SAMGRA)

Rs 160.00 Rs 120.00

2 items sold

 

  • Pages: 160
  • Year: 2017, 1st Ed.
  • Binding: Paperback
  • (Hard Bound: Price: Rs. 350, Pages: 160, Selling Price: Rs. 250)
  • Language: Hindi
  • Publisher: The Marginalised Publication

 

Out of stock

Description

किताब के बारे में:

यह किताब 19वीं सदी की उस युगनायिका के लेखन का समग्र संकलन है, जिसे आधुनिक भारत में स्त्री-शिक्षा की मशाल जलाने का श्रेय जाता है। ‘सत्यशोधक आंदोलन’ के प्रणेता फले दंपत्ति, जोतिबा फुले और साबित्रीबाई फुले आज बहुजन आंदोलन से लेकर स्त्रा-मुक्ति के आंदोलनों तक प्रकाश-स्तंभ की तरह हैं। पुस्तक में संकलित साबित्रीबाई फुले की रचनायें, उनके विचार पाठकों के विचारोन्मेष के लिए जितने उपयोगी हैं, उतना ही इतिहास साहित्य और समाजशास्त्र के शोधार्थियों के लिए भी।

साबित्रीबाई फुले कोई साधारण महिला नहीं थी, जिन्हें इतिहास के गर्भ में छुपा दिया जाये और वे गुमनामी के अंधेरों में छुप जायें। साबित्रीबाई फुले उन्नीसवीं शताब्दी की वह सुनहरी किरण थी जिसने ब्रिटिश उपनिवेशवादी दौर के भीतर न केवल अपनी आभा बिखेरी बल्कि अंधविश्वास, पाखंड, ढोंग धार्मिक कर्मकांडों को चीर कर ज्ञान के स्रोत को अछूतों व स्त्रियों के लिए रेखांकित किया। तत्कालीन बीहड़ परिस्थितियों में समाज सुधारक क्रांतिज्योति साबित्रीबाई फुले युग नायिका बनकर उभरी। अपनी तीक्ष्ण बुद्धि, निर्भीक व्यक्तित्व, सामाजिक सरोकारों से ओत-प्रोत ज्योतिबा फुले के साथ कंधे-से-कंधा मिलाकर दकियानूस समाज को बदलने हेतु इन्होंने अपने तर्कों के आधार पर बहस की। स्त्री जीवन को गौरवान्वित किया एवं सामाजिक न्याय को लक्षित किया

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “सावित्रीबाई फुले रचना समग्र (SAVITRI BAI PHULE SAMGRA)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *