स्त्रीकाल, स्त्री का समय और सच, संयुक्तांक 2019 (STREEKAAL 2019)

Rs 40.00

4 items sold

  • Pages: 96
  • Year: 2019, 1st Ed.
  • ISSN : 2249-4146
  • Binding: पेपर बेक 
  • Language: हिंदी
  • Publisher: The Marginalised Publication

Description

स्त्रीकाल, स्त्री का समय और सच.

स्त्री विमर्श की त्रैमासिक हिंदी पत्रिका

संयुक्तांक 2019

विशेष : #MeToo

इस अंक (#MeToo) में-
दीपांजना, सुधा अरोड़ा (Sudha Arora), जशवंत, अरविंद जैन (Arvind Jain Bakeelsab), विजय प्रसाद, शोएब दानियाल, नाइश हसन (Naish Hasan), , अमोल, सुशील मानव(Sushil Manav), मनोरमा, मेहरुन्निसा रेवा व सल्ला सरिओला, विजयलक्ष्मी सिंह ‘चंदेल’, मनोज, निवेदिता, प्रतिमा,नूर ज़हीर(Noor Zaheer), तोषी, रॉहिन कुमार, पल्लवी के थीम आलेख, पत्रकार विनोद दुआ के मामले में ‘दि वायर’ का पक्ष, आत्मकथांश, रमणिका गुप्ता, शरद जायसवाल(Sharad Jaiswal), पूजा तिवारी संदीप, मुक्ता साल्वे, अनुवाद सपकाले (संदीप मधुकर सपकाळे), अनिता भारती (Anita Bharti), के आलेख हेमलता महिश्वर(Hemlata Mahishwar), मेधा (Medha Medha), तहसीन मजहर(Tahsin Mazhar, प्रतिभा श्री, की कविताएं अफगानी कवयित्री नादिया अंजुमन की कविताओं का राजेश चन्द्र (Rajesh Chandra)द्वारा अनुवाद, और भूमिका द्विवेदी अश्क (Bhumika Dwivedi) तथा संजीव चंदन द्वारा स्मृतिलेख शामिल हैं.
कविताओं के साथ रेखाचित्र सोनी पांडे. कुछ आलेखों आ अनुवाद डा. अनुपमा गुप्ता ने किया है.

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “स्त्रीकाल, स्त्री का समय और सच, संयुक्तांक 2019 (STREEKAAL 2019)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *